रांगवा में पानी की समस्या को लेकर अधिशासी अभियंता पांवटा से मिला प्रतिनिधि मण्डल

समस्या

सिरमौर न्यूज। पांवटा साहिब
उपमंडल शिलाई के रांगवा गांव में पीने के पानी की समस्या लोगों को सताने लगी है। पीने के पानी की समस्या को लेकर रांगवा गांव के लोगों का एक प्रतिनिधिमंडल पावंटा साहिब में अधिशासी अभियंता सिंचाई एवं जनस्वास्थ्य मंडल पांवटा से मिला। ग्रामीणों ने बताया कि रांगवा गांव में काफी लंबे समय से पीने की पानी की किल्लत से ग्रामीणों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। ग्रामीणों ने बताया कि पिछले 3 महीने रांगवा गांव में पीने के पानी की सप्लाई बंद है। इससे पहले भी कई बार सहायक अभियंता के कार्यालय में लिखित रूप से आवेदन किया गया था, परंतु विभागिय कार्यवाही नाममात्र कागजों में सिमट कर रह गई है। गांव के लोगों की आबादी करीब ढ़ाई सौ से अधिक है और गांव के लोगों को पशुओं के लिए पानी करीब 2 किलोमीटर दूर से सिर पर उठाकर लाना पड़ रहा है। उन्होंने बताया कि यह समस्या रांगवा गांव के लोगों की काफी लंबे समय से चली आ रही है। 2016 में तत्कालीन मुख्यमंत्री हिमाचल प्रदेश सरकार वीरभद्र सिंह ने टौंस नदी से उठाऊ पेयजल योजना का श्री गणेश किया था। जिसके बाद आज तक एक बूंद भी पानी की गांव को नहीं मिली है। ग्रामीणों ने प्रशासन को चेताया कि यदि शीघ्र गांव में पीने के पानी की समस्या को सुचारू नही जाता तो उन्हें आखिरकार आंदोलन का रास्ता अपनाना पडे़गा। उधर इस बार में अधिशासी अभियंता सिंचाई एवं जनस्वास्थ्य मंडल अश्विनी कुमार धीमान ने बताया कि गांव के लोगों ने पीनी के पानी की समस्या को बताया है। जल्द ही उनके पीने के पानी की समस्या का निपटारा किया जाएगा।